क्षेत्र

नईदिल्ली:दिल्लीपुलिसकेपुलप्रह्लादपुरथानेकेहेडकांस्टेबलसुरेशइलाकेमेंरहनेवाली77सालकीशाकुन्तलकपूरनामकीबुजुर्गमहिलाकेलिएबेटाबनगएहैं.मूलरूपसेलुधियानाकीरहनेवालीशकुंतलाकपूरपुलप्रह्लादपुरकेसूरजअपार्टमेंटकेएमआईजीफ्लैटमेंरहतीहैं.शकुंतलाकीशादीकिशनकुमारकपूरसेहुईथीजिनकीफैमिलीपाकिस्तानशिफ्टहोगईथी.पिछले65सालसेदिल्लीमेंरहरहीहैं.

नईदिल्ली:

एकपब्लिकसेक्टरयूनिटसे1995मेंरिटायरहोनेकेबादखुशी-खुशीअपनेपतिकेसाथदिल्लीमेंरहरहीथी।लेकिनउनकीखुशीकोशायदकिसीकीनजरलगगईऔर30अगस्त2017कोउनकीमौतहोगई.जिसकेबादवो8महीनेअपनेगुरुजीकेपासचकराता,देहरादूनमेंरहनेकेबादवापसआगईलेकिनअचानकउनकेकंधेमेंचोटलगनेकेकारणपूरेएकसालतकबिस्तरपररहीं.

हालकेदिनोंमेंभीवोबिनावॉकरकेचलफिरनहींसकतीं.लॉकडाउनकेदौरानयेसमयओरज्यादामुश्किलहोगयाथा.इसीदौरानवोहेडकॉन्स्टेबलसुरेशकेसंपर्कमेंआई.उनकोपतिकीगाड़ीकारजिस्ट्रेशनअपनेनामकरानेमेंदिक्कतआरहीथी.इसमुश्किलघड़ीमेंहेडकांस्टेबलसुरेशउनकोलेकरट्रांसपोर्टअथॉरिटीलेकरगएऔरवोतमामकानूनीप्रक्रियापूरीकरगाड़ीकीऑनरशिपउनकेनामकरवाई.उसकेबादसुरेशउनकेलिएकिसीपरिवारकेसदस्यकीतरहउनकाबेटाबनकरउनकीदेखभालकरनेलगा.

शकुंतलाकपूरकोजबभीकिसीचीजकीजरूरतहोतीवोसुरेशसेसंपर्ककरतीहैं.सुरेशउनकीहरजरूरतकोबेटाबनकरपूराकरतेहैं.इसकेसाथहीसुरेशनेशकुंतलाकीसुरक्षाकोध्यानमेंरखकरउनकेघरपरआनेवालेकेबलमैन,दूधवाला,सब्ज़ीवालाऔरनॉकरोपरभीध्यानरखताऔरउनकीवेरिफिकेशनतककिताकिबुजुर्गशकुंतलाकीसुरक्षाकोसुनिश्चितकियाजासके.हेडकांस्टेबलअबहरवोसबकामकरनेलगेजोकोईभीजिम्मेदारसगाबेटाकरताहै.इसीलिएसुरेशकोअबउसइलाकेमेंबीटकाबेटाकेतौरपरपहचानाजानेलगाहै.शकुंतलाकपूरइसबातसेखुशहैकिउम्रकेइसपड़ावमेंउनकोखाकीवर्दीवालाएकबेटामिलगयाहै.